दोनों ने मिलकर बहन को चोदा Hindi Behan Xxx Story

banglar choti Golpo, Choti In bangla font, Bangla Choda Chudi, indian choti, hot pictures, sexual book, indian bangla choti, tamil telego

प्रेषक : गुमनाम
हैल्लो दोस्तों, में भी आप सभी की तरह भीआईपीचोटी डॉट कॉम का एक लगातार पाठक हूँ। मैंने अब तक ना जाने कितनी कहानियों के मज़े लिए है जो सभी मुझे बहुत पसंद भी आई। दोस्तों यह मेरी दूसरी कहानी है और यह मेरी आज की कहानी मेरे दोस्त की है जिसका नाम राजू है। दोस्तों उसके परिवार में वो पांच लोग है, उसकी मम्मी पापा, राजू से छोटी बहन और उससे छोटा एक भाई भी है। राजू अभी एक कॉलेज से अपनी पहले साल की बी.कॉम की पढ़ाई कर रहा है, वो दिखने में ठीकठाक, उसका गोरा रंग, लम्बाई भी ठीक ही है। दोस्तों वो जब से 11th में था, तभी से वो अधूरा सेक्स करने लगा था, लेकिन उसने अब तक किसी की चुदाई नहीं की थी, लेकिन वो हर रोज अपने कंप्यूटर पर सेक्सी फिल्म को देखता था और मुठ मारकर अपना काम चला लिया करता था। दोस्तों वैसे उसके घर में तीन कमरे थे, एक कमरे में उसकी मम्मी पापा, दूसरे में उसकी छोटी बहन और तीसरे कमरे में वो दोनों भाई ही रात को सोते थे। दोस्तों राजू जब उसका छोटा भाई जिसका नाम राहुल था वो सो जाता, तब अपने कंप्यूटर पर सेक्सी फिल्म या सेक्सी कहानियों को पढ़कर मुठ मारना शुरू करता था, क्योंकि ऐसा करने में उसको बड़ा मज़ा आता था और वो अपने मन को यह सब करके खुश रहता था।
एक दिन राजू जब अपने कंप्यूटर पर सेक्सी फिल्म देखकर उसमे बड़ा व्यस्त था, तभी उसी समय राहुल भी पीछे से आकर उस फिल्म को चोरी छिपे देखने लगा था, लेकिन इसके बारे में राजू को बिल्कुल भी अंदाजा नहीं था। फिर कुछ देर बाद जब राजू ने पीछे मुड़कर देखा और उसको अपना भाई पीछे खड़ा नजर आया, तभी उसने चकित होकर तुरंत ही अपने कंप्यूटर को बंद कर दिया और वो राहुल को कहने लगा कि तू जाकर सो जा, यहाँ खड़े होकर क्या देख रहा है क्या तुझे नींद नहीं आ रही है? दोस्तों लेकिन राहुल अपने बड़े भाई की वो बात नहीं माना और वो कहने लगा कि उसको भी एक बार वो देखना है। मुझे नींद नहीं आती, प्लीज एक बार देखने दो, उसके बाद में अपने आप ही चला जाऊंगा। फिर जब राहुल ने बहुत ज़िद करना शुरू किया तो उसके बाद तब जाकर राजू ने और राहुल दोनों भाईयों ने मिलकर वो फिल्म देखना शुरू किया। फिर कुछ देर बाद राजू ने कुछ देर बाद ध्यान देकर देखा कि उसके छोटे भाई का लंड अब फिल्म को देखकर जोश में आकर बड़ा होने लगा है। अब राजू ने उसकी पेंट के ऊपर से अपने भाई के लंड को पकड़ लिया और वो उसको सहलाने लगा, लेकिन राहुल ने उसको ऐसा करने से मना नहीं किया और वो बेड पर आकर लेट गया।
फिर राजू ने कंप्यूटर को बंद करके वो राहुल के पास में आकर वो लेट गया और राहुल से आकर बातें करने लगा पूछने लगा कि वो फिल्म कैसी थी? राहुल ने बोला कि अच्छी थी और अब वो दोनों बातें करने लगे और फिर कुछ देर के बाद राजू ने उसकी पेंट में अपने एक हाथ को डालकर उसके लंड को बाहर निकाल लिया और राहुल ने राजू का लंड सहलाना शुरू किया। फिर कुछ देर बाद उन दोनों ने एक दूसरे के लंड का पानी निकाल दिया और फिर उसके बाद वो दोनों सो गए। दोस्तों ऐसे ही कुछ दिन चलता रहा और फिर उसके बाद अब वो दोनों 69 की पोज़िशन में आकर एक दूसरे का लंड चूसते और वीर्य को पीते भी थे। एक दिन जब सुबह के समय वो दोनों उस समय सोकर उठे थे, लेकिन वो अभी भी बेड पर ही लेटे हुए बातें कर रहे थे। तभी उसी समय रीमा उन दोनों की सग़ी बहन झाड़ू लगाने उसी कमरे में आ गई। फिर वो जब नीचे झुककर झाड़ू लगा रही थी तब उस समय उसके बड़े आकार के गोरे उभरे हुए बूब्स को वो दोनों ही देख रहे थे, जिसको देखकर वो खुश होने लगे थे। फिर उसी समय राजू ने राहुल का लंड पकड़ा और महसूस किया कि वो पूरी तरह से तनकर खड़ा हो चुका था।
अब राजू ने बड़ी धीरे से राहुल के कान में कहा वाह क्या मस्त बूब्स है? राहुल ने कहा कि हाँ भाई तुम ठीक कहते हो वाह क्या मस्त मज़ेदार बूब्स है और तुम ध्यान से देखो गांड भी कितनी मस्त बड़ी है इसको देखकर तो मेरे मन में कुछ होने लगा है और वो यह बातें करते हुए ही एक दूसरे के लंड को हिलाने सहलाने लगे थे। दोस्तों रीमा उस समय अपने काम में व्यस्त थी और वो दोनों एक चादर को ओढ़कर उसके अंदर मुठ मार रहे थे और कुछ देर बाद रीमा उस कमरे से झाड़ू लगाने के बाद वापस बाहर चली गई। फिर उन दोनों ने अपनी बहन के नाम से मुठ मारी और ठंडे होने के बाद राहुल कहने लगा, भाई रीमा दीदी को एक बार चोदने का मौका मिलना चाहिए। वो एक बार हम दोनों के साथ चुदाई करने को तैयार हो जाए तो मज़ा आ जाएगा। अब राजू यह बात सुनकर खुश होकर बोला कि हाँ यार यह क्या मस्त दिखती है इसके पूरे 36 के बूब्स होंगे और गांड भी 34 की होगी हाँ भाई और क्या मस्त यह गोरी भी है इसके बूब्स भी बड़े मस्त गोरे गोरे है, भाई क्या उसकी चूत भी इतनी ही गोरी होगी क्या? हाँ यार उसकी चूत भी बहुत गोरी ही होगी, जब हम इसकी चुदाई करेंगे तब इसकी चूत से बहुत सारा पानी निकलेगा। दोस्तों ये कहानी आप भीआईपीचोटी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर राहुल ने पूछा हाँ भाई, लेकिन उसकी चुदाई हम कैसे कर सकते है? और फिर उन दोनों ने अपनी बहन की चुदाई का विचार बनाना शुरू किया। अब उन दोनों का विचार बन गया कि वो अपने मामा के घर कुछ दिन रहने जाएगें, वहीं अगर उनके हाथ कोई अच्छा मौका लगा तो वो अपनी बहन की चुदाई करके वो काम उस सपने को भी पूरा कर सकते है और वैसे भी गर्मियों की छुट्टियाँ थी। दोस्तों उन दिनों राहुल के पहले साल के पेपर खत्म हुए थे और रीमा और राहुल की 11th और 10th के पेपर थे, उनके मामा का घर 60 किलोमीटर दूरी पर दूसरे गाँव में था और रास्ते में एक घना जंगल और नदी भी आती है। फिर उन दोनों ने विचार करके अपना प्लान बनाया और रीमा को भी अपने साथ में ले जाने का प्लान था तो दोनों ने मम्मी को पटाया और दूसरे दिन सवेरे जाने का प्लान हुआ राहुल के पास एक मोटरसाईकिल थी। फिर वो तीनो उस गाड़ी पर जाने वाले थे और जब सवेरे वो तीनो मामा के घर जाने को निकले तो राजू चलाने के लिया बैठा बीच में राहुल और फिर रीमा कुछ दूर जाने के बाद जब सुनसान रास्ता आना शुरू हुआ, तब राजू ने पेशाब करने के लिए गाड़ी को रोक दिया और वो रीमा के सामने ही खड़े होकर पेशाब करने लगा और साथ में कुछ देर बाद राहुल भी पेशाब करने लगा।
अब रीमा ने चकित होकर उन दोनों के लंड को देखने शुरू किया। उसकी आंखे पहली बार वो द्रश्य देखकर बहुत स्तब्ध थी और उसकी नजरे लंड के ऊपर से हटने को तैयार ही नहीं थी। दोस्तों उस समय रीमा ने फोर्क पहना हुआ था और जब वो दोनों वापस आए तब राजू ने कहा कि रीमा तुम अब बीच में बैठ जाओ क्योंकि इसके आगे का रास्ता बहुत खराब है। फिर रीमा बोली कि हाँ ठीक है आप जैसे कहे में बैठ जाती हूँ और उसके बाद जब वो बैठ गई तब राजू ने गाड़ी को स्टार्ट किया और अब रीमा बीच में बैठी हुई थी। अब राहुल ने बैठते समय रीमा की फ्रोक को पीछे से ऊपर कर दिया और उसके बाद अपनी पेंट से लंड को बाहर निकालकर उसने रीमा की गांड में अपने लंड को लगा दिया। फिर वो रीमा की पेंटी के ऊपर से उसकी गांड के छेद को अपने लंड से सहलाने लगा था और राजू बार बार जानबूझ कर गाड़ी को ब्रेक मारकर रीमा के बूब्स का वो अनुभव अपनी कमर पर ले रहा था। फिर कुछ देर के बाद राहुल ने अपना एक हाथ आगे बढ़ाकर वो अब रीमा की चूत को सहलाने लगा था। अब रीमा उसके इस काम का विरोध करने लगी और उसको कहने लगी कि भाई प्लीज आप ऐसा मत करो हाथ हटाओ, मुझे गुदगुदी हो रही है।
दोस्तों राहुल ने उसकी किसी भी बात पर ध्यान नहीं दिया, वो लगातार अपने हाथ से रीमा की कुंवारी मुलायम चूत को सहलाने लगी थी, जिसका उन दोनों को बड़ा मज़ा आ रहा था। अब उस काम की वजह से रीमा ने बहुत गरम होकर कुछ देर बाद अपनी चूत का पानी छोड़ दिया, जिसकी वजह से राजू की गांड भी गीली हो चुकी थी। फिर कुछ देर बाद राजू ने नदी किनारे अपनी गाड़ी को रोककर झाड़ियों के पीछे लगाकर छोड़ दिया। अब वो दोनों रीमा को भी अपने साथ झाड़ियों के पीछे ले गए और फिर वो दोबारा रीमा के बदन को सहलाते हुए उसको गरम करने लगे थे, जिसकी वजह से कुछ देर बाद रीमा को भी बड़ा मज़ा आने लगा था। फिर सबसे पहले राहुल नंगा हुआ और उसने अपने लंड को रीमा के मुहं में दे दिया, उसके बाद रीमा को नंगा किया और अब वो दोनों भाई रीमा की चुदाई करने के लिए तैयार हो गए। अब राहुल और राजू ने तय किया कि रीमा की सील हम दोनों एक साथ ही तोड़ेगें चाहे कुछ भी हो जाए और फिर इसलिए राजू ने चूत में अपने लंड को डाल दिया और राहुल ने गांड में अपने लंड को डाल दिया।
फिर उन दोनों ने एक साथ हल्के हल्के धक्के देकर चुदाई करना शुरू किया, रीमा अब को उस मज़े में सजा लगने लगी और वो दर्द की वजह से बहुत ज़ोर से ज़ोर चिल्लाने लगी, लेकिन उन दोनों में तो उस समय शर्त लगी थी कि कौन पहले अपना पूरा लंड अंदर डालता है? अब पहली बार की उस चुदाई की वजह से रीमा की चूत और गांड से खून निकलने लगा था और उस दर्द की वजह से रीमा हल्की सी बेहोश होने लगी थी क्योंकि उसकी गांड और चूत दोनों में लगातार उसके भाईयों का लंड अंदर बाहर हो रहा था जो उसके लिए बड़ा दुखदायी हो गया था। अब उन दोनों को पता नहीं था कि उनकी बहन की हालत कैसी है उसको कितना दर्द हो रहा है? उनको तो बस अपने मज़े से मतलब था। फिर कुछ देर और जोश में आकर मज़े लेने के बाद जब उन दोनों ने रीमा की गांड और चूत में अपने लंड का वीर्य छोड़ा तब उनको पता चला कि रीमा की हालत बहुत ज्यादा खराब है, वो बेहोशी की हालत में थी। फिर उन दोनों ने मिलकर उसको होश में लाना शुरू किया और वो उसको माफ करने के लिए कहने लगे थे और अब रीमा ने भी उन दोनों को माफ कर दिया और उनको कहा कि तुम्हे मेरे दर्द को देखकर यह सब करना चाहिए था, लेकिन तुमने तो मुझे जानवरों की तरह धक्के देने शुरू कर दिए और वैसे मुझे अब दर्द कम है।
दोस्तों उसने फिर मुस्कुराते हुए कहा कि इस खेल का उसको भी मज़ा तो बहुत आया, मेरे मन में भी बहुत दिनों से यह सब करके इस अनुभव को लेना था। अब अपनी बहन के मुहं से यह बात सुनकर उनकी खुशी और हिम्मत पहले से ज्यादा बढ़ गई। दोस्तों उसने उनको कहा कि इस पहली चुदाई के बाद अब जब भी उसकी मर्ज़ी होगी तब आप मुझे चोद सकते हो, बिना मेरी मर्जी के आप कुछ भी नहीं करोगे। फिर वो तीनों उनके मामा के घर पहुंच गये और जब मामी ने देखा कि रीमा ठीक तरह से चल नहीं सकी। अब मामी ने रीमा को पूछा कि क्या हुआ, लेकिन उसके पहले ही राहुल ने बीच में बोलकर उनको बता दिया कि हमारा यहाँ पर आते समय रास्ते में एक्सीडेंट हुआ था इसलिए रीमा को हल्की सी चोट लगी है, लेकिन दोस्तों मामी को उनकी बातों पर बिल्कुल भी विश्वास नहीं हुआ और उनको उन तीनों पर शक होने लगा था, क्योंकि उस हादसे में सिर्फ़ रीमा को ही चोट लगी थी। वो दोनों एकदम सही थे। दोस्तों उनकी मामी अब अच्छी तरह से समझ चुकी थी कि रीमा वहां पर आते समय रास्ते में ही अपने भाईयों से चुद चुकी है ।।
धन्यवाद banglar choti Golpo, Choti In bangla font, Bangla Choda Chudi, indian choti, hot pictures, sexual book, indian bangla choti, tamil telego

Related posts

Leave a Comment